HomeAATM Nirbhar Bharatसहारा इंडिया में फंसा 10 करोड़ लोगों का पैसा अब मिलेगा वापस.....

सहारा इंडिया में फंसा 10 करोड़ लोगों का पैसा अब मिलेगा वापस.. गृह मंत्री अमित शाह ने लॉन्च किया ‘सहारा रिफंड पोर्टल’!

Sahara Refund Portal: सहारा समूह में सालों से फंसा पैसा अब निवेशकों को जल्दी मिल सकेगा, इसके लिए सहकारिता मंत्री अमित शाह ने मंगलवार को सहारा समूह की सहकारी समितियों के जमाकर्ताओं के लिए पोर्टल लॉन्च कर दिया है.

केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने रिफंड पोर्टल लॉन्च करते हुए कहा, “सहारा ग्रुप की चार सहकारी समितियों में फंसे जमाकर्ताओं का पैसा वापस करने की प्रक्रिया सहारा रिफंड पोर्टल के लॉन्च के साथ शुरू हो गई है।” सरकार ने 29 मार्च को कहा था कि सहारा समूह की चार सहकारी समितियों के करीब 10 करोड़ निवेशकों को 9 महीने के भीतर पैसे लौटाए जाएंगे। यह घोषणा सुप्रीम कोर्ट के 5,000 करोड़ रुपये सहारा-सेबी रिफंड अकाउंट से केंद्रीय सहकारी समिति रजिस्ट्रार (CRCS) को ट्रांसफर करने के आदेश के बाद की गई थी

अमित शाह ने सहारा समूह की चार सहकारी समितियों के वास्तविक डिपॉजिटर्स का वैध दावा करने के लिए ‘CRCS- Sahara Refund Portal’ लॉन्च किया है. इन सहकारी समितियों के नाम सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, सहारायन यूनिवर्सल मल्टीपर्पज सोसाइटी लिमिटेड, हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड और स्टार्स मल्टीपर्पज कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड हैं.

45 दिनों में मिलेगा पैसा

गृह मंत्री ने जमाकर्ताओं को भरोसा दिया कि अब उनका धन कोई नहीं रोक सकता है और पोर्टल पर पंजीकरण करने के 45 दिनों में उन्हें रिफंड मिल जाएगा।

10 करोड़ निवेशकों को राहत

सरकार ने 29 मार्च को कहा था कि चारों सहकारी समितियों के 10 करोड़ निवेशकों को नौ महीने के भीतर उनके रुपये लौटा दिए जाएंगे। बता दें, यह घोषणा उच्चतम न्यायालय के उस आदेश के बाद हुई, जिसमें सहारा-सेबी रिफंड खाते से 5,000 करोड़ रुपये सहकारी समितियों के केंद्रीय पंजीयक (सीआरसीएस) को हस्तांतरित करने का निर्देश दिया गया था।

अधिक निवेश करने वालों की बढ़ेगी राशि

शाह ने कहा कि शुरुआत में जमाकर्ताओं को 10,000 रुपये तक का रिफंड मिलेगा। बाद में जिन्होंने अधिक निवेश किया है उन लोगों के लिए राशि बढ़ाई जाएगी। उन्होंने कहा कि 5,000 करोड़ रुपये का कोष पहले चरण में 1.7 करोड़ जमाकर्ताओं को राहत देगा।

ढाई करोड़ लोगों के रुपये जमा

गौरतलब है, चार सहकारी समितियों- सहारा क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड, सहारायन यूनिवर्सल मल्टीपर्पज सोसाइटी लिमिटेड, हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड और स्टार्स मल्टीपर्पज कोऑपरेटिव सोसाइटी लिमिटेड में लगभग 2.5 करोड़ लोगों के 30,000 रुपये तक जमा हैं।

सुप्रीम कोर्ट का रुख करेंगे गृह मंत्री

शाह ने कहा कि पांच हजार करोड़ रुपये जमाकर्ताओं को दिए जाने के बाद हम उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे और उनसे अधिक धनराशि जारी करने का अनुरोध करेंगे, ताकि बड़ी राशि वाले अन्य जमाकर्ताओं का पूरा धन वापस किया जा सके।

इस पोर्टल के लॉन्च होने के बाद सहारा के 4 करोड़ निवेशकों को 5000 करोड़ रुपये वापस मिलेगा. रिफंड की प्रक्रिया जस्टिस Rtd R Subhas Reddy के अध्यक्षता में की जाएगी. सहारा के निवेशकों को 5000 करोड़ की रकम वापस की जाएगी. निवेशकों को पोर्टल www.cooperation.gov.in पर विवरण भरना होगा, और उन्हें आधार और बैंक को एक ही मोबाइल नंबर से लिंक करना होगा. जानकारी है कि 45 दिनों में पैसा रिफंड कर दिया जाएगा.

यह एक पायलट प्रोजेक्ट है, इसकी सफलता के बाद सरकार सुप्रीम कोर्ट जाएगी और कुल राशि की पूरी वापसी का अनुरोध करेगी. रिफंड प्रक्रिया में मदद के लिए प्रत्येक सोसायटी के लिए विशेष ड्यूटी पर चार अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. जो लोग ऑनलाइन आकर पोर्टल में विवरण भरने में सक्षम नहीं हैं, उनके लिए सीएससी की व्यवस्था की है और वे उन्हें पोर्टल भरने में मदद करेंगे.

सरकार ने पैसे लौटाने के लिए की थी घोषणा

सरकार ने इस साल 29 मार्च को कहा था कि सहारा समूह की चार सहकारी समितियों के करीब 10 करोड़ निवेशकों को नौ महीने के भीतर पैसे लौटाए जाएंगे. यह घोषणा सुप्रीम कोर्ट के 5,000 करोड़ रुपये सहारा-सेबी रिफंड खाते से केंद्रीय सहकारी समिति रजिस्ट्रार (सीआरसीएस) को हस्तांतरित करने के आदेश के बाद की गई थी. सहकारिता मंत्रालय का कहना है कि सहारा समूह के निवेशकों की तरफ से दावा प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए ये विशेष पोर्टल जारी किया जा रहा है. सहारा समूह की सहकारी समितियों के वास्तविक जमाकर्ताओं की तरफ से वैध दावे जमा करने के लिए ये पोर्टल काम करेगा.

सहारा समूह की इन सहकारी समितियों के पास पैसे जमा करने वाले निवेशकों को राहत दिलाने के लिए सहकारिता मंत्रालय ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दायर की थी, जिसके बाद शीर्ष अदालत ने इनके दावों की भरपाई के लिए 5,000 करोड़ रुपये सीआरसीएस को हस्तांतरित करने का आदेश दिया था.

सहारा रिफंड पाने के लिए शर्तें

सहारा का रिफंड पाने के लिए आपको सबसे पहले CRCS सहारा रिफंड पोर्टल’ पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके साथ ही जरूरी है कि आपका मोबाइल फोन आपके आधार से लिंक हो। अगर आपने अपना मोबाइल फोन बदला है तो नए नंबर को आधार से लिंक कर लें। इसके साथ ही जरूरी है कि आपका आधार नंबर आपके बैंक अकाउंट से भी लिंक हो। अगर आपके पास सारे कागज हैं तो आप इस पोर्टल पर जाकर अपनी रसीद अपलोड करके रिफंड पा सकते हैं। सुब्रत रॉय सहारा ने सहारा की शुरुआत कर इसे देश में सबसे बड़े कर्मचारियों वाली कंपनी बना दी, लेकिन कंपनी ने निवेशकों को बड़ा झटका दे दिया।

आवेदन के लिए कौनकौन से डॉक्यूमेंट जरूरी

  • पोर्टल के जरिए रिफंड पाने के लिए आपको कुछ दस्तावेजों की भी जरूरत होगी।
  • सहारा में निवेश की सदस्यता संख्या
  • जमा खाता संख्या
  • आधार लिंक मोबाइल नंबर
  • जमा धारक का पासबुक
  • पैनकार्ड ( अगर राशि 50 हजार से अधिक है)

सहारा रिफंड 2023 के लिए आवेदन कैसे करें?

  • सहारा का रिफंड पाने के लिए आपको सबसे पहले CRCS-सहारा रिफंड पोर्टल ( https://mocrefund.crcs.gov.in/Depositor/Register) पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा
  • रजिस्ट्रेशन के लिए आधार के अंतिम चार नंबर और आधार से लिंक अपना मोबाइल नंबर डालें।
  • इसके बाद OTP पर क्लिक करें। आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगा, जिसे आपको भरना होगा।
  • इसके बाद आपको फॉर्म मिल जाएगा।
  • ऑफलाइन फॉर्म डाउनलोड करने के बाद उसे भरकर स्कैन करके पोर्टल पर अपलोड करना होगा।
  • आपके द्वारा जी गई जानकारी की जांच के बाद आपको रिफंड अमाउंट आपके खाते में भेज दिया जाएगा।
  • आवेदन कैसे करना है इस बारे में जानने के लिए इस लिंक पर क्लिक कर पूरा वीडियो देख सकते हैं। https://mocrefund.crcs.gov.in/Help

कितने दिनों में मिलेगा सहारा का पैसा

आपके दस्तावेजों की जांच करने के बाद 45 दिनों के अंदर खाते में पैसे आ जाएंगे। इस पोर्टल के जरिए छोटे निवेशकों को भी लाभ मिलेगा। इस पोर्टल के जरिए करीब ढाई करोड़ लोगों को अपना पैसा वापिस मिलेगा। सहारा के लाखों -करोड़ों निवेशकों का इसका लाभ मिलेगा।

News Source from :- Twitter and ANI

क्या सहारा 2023 में पैसा लौटा रहा है?

सहारा इंडिया का पैसा सभी स्टेट बैंक खाते में आना शुरू हो चुका है जिसे आप सभी दिए गए लिंक के माध्यम से चैट कर सकते हैं। भारत सरकार द्वारा एक नई पोर्टल लांच किया गया है। जिस फोल्डर के माध्यम से आप सभी अपना पैसा निकाल सकते हैं।

सहारा 2023 का पैसा कब लौटाएगा?

सहारा के निवेशकों को कब मिलेगा रिफंड? शाह ने कहा कि दावेदारों के बैंक खातों में 45 दिनों के भीतर पैसा आ जाएगा। एक बार जब निवेशक आवेदन जमा कर देते हैं, तो सहारा समूह समिति 30 दिनों के भीतर विवरण का सत्यापन करेगी।

मुझे सहारा इंडिया से रिफंड कैसे मिल सकता है?

मैं सीआरसीएस सहारा रिफंड पोर्टल पर अपने सहारा मनी का दावा कैसे करूं? सबसे पहले जमाकर्ता को आधिकारिक पोर्टल यानी https://mocrefund.crcs.gov.in पर पंजीकरण करना होगा । पंजीकरण से पहले, दावा करने के लिए जमाकर्ता का आधार उनके मोबाइल नंबर और बैंक खातों से जुड़ा होना चाहिए।

सहारा रिफंड के लिए आवेदन कैसे करें 2023?

सहरा इंडिया में फसा पैसा निकालने के लिए सबसे पहले ऑफिशियल वेबसाइट पर जाएं। जिसके बाद सहारा इंडिया में फंसे पैसे निकाले 2023 ऑप्शन पर क्लिक करें। उसमें अपने पर्सनल डिटेल्स को भरते हुए समित बटन पर क्लिक करें। फिर आप सभी को अपने दस्तावेजों को अपलोड करते हुए समिति बटन पर क्लिक करें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments